Header Ads Widget

Responsive Advertisement

Ticker

10/recent/ticker-posts

शासकीय राशि में हेराफेरी, पूर्व सरपंच को एसडीएम ने भेजा जेल...

सरपंच बनने के बाद शासकीय राशि में हेराफेरी करने वाले सरपंच-सचिवों की अब खैर नहीं।

*लैलूंगा। पंचायत राज अधिनियम अंतर्गत वसूली की कार्यवाही किया जा रहा है। लैलूंगा विकास खण्ड के 16 सरपंचों से 1387401 रूपये वसूली करना है। जिनके विरूद्ध अनुविभागीय अधिकारी न्यायलय द्वारा पंचायत राज अधिनियम के तहत वसूली के लिए पूर्व सरपंचों को नोटिस दिया गया है। नेटिस मिलने के बाद भी पूर्व सरपंचों ने अपना बकाया राशि जमा नहीं करने के कारण एसडीएम लैलूंगा कोर्ट ने एक पूर्व सरपंच को जेल का रास्ता दिया है।

प्राप्त जानकारी अनुसार गहनाझरिया पंचायत के पूर्व सरपंच तेजराम माझी से मा.शा.भवन निर्माण में शासकीय राशि 478414 रूपये का गोलमाल किया गया था। पूर्व सरपंच तेजराम माझी के द्वारा इतनी रकम कोष में जमा कर पाने में असमर्थता जाहिर किए जाने पर अनुविभागीय अधिकारी, राजस्व ने पंचायत अधिनियम की धारा 92 के तहत पूर्व सरपंच तेजराम माझी को जेल का रास्ता दिखा दिया। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व ने जानकारी देते हुए बताया कि 16 सरपंचों से 1387401 वसूली होना है, सभी को नोटिस दे दिया गया है। नोटिस के माध्यम से शासकीय राशि जमा करने को कहा गया है। जिसके तहत अभी तक मात्र 36500 रूपये की वसूली किया गया है।

शासकीय राशि जमा करें नहीं तो होगी कड़ी कार्यवाही


अनुविभागीय अधिकारी ने प्रेस को बताया कि शासकीय राशि के साथ हेराफेरी करने वालों को किसी भी हालात में छोड़ा नहीं जायेगा। जिस सरपंच-सचिव को नोटिस जारी हुआ है और उनसे वसूली होना है वह समय पर राशि जमा कर दे ताकि परेशानियों से बच सके। जिस तरह से गहनाझरिया के पूर्व सरपंच तेजराम माझी द्वारा शासकीय राशि जमा नहीं करने के कारण पंचायत अधिनियम के धारा के तहत जेल भेज दिया गया है उसी तरह आगे और भी कड़ी कार्यवाही किया जाएगा।



*अशोक भगत
 पुरुषोत्तम पात्र के विरुद्ध एसपी से भी की गई शिकायत , एफआईआर दर्ज करने की मांग