Header Ads Widget

Responsive Advertisement

Ticker

10/recent/ticker-posts

छत्तीसगढ़िया सरकार के परदेशिया खनन माफिया !

चौंकाने वाला खुलासा : उत्तरप्रदेश, हरियाणा, पंजाब और मध्यप्रदेश से जुड़े रेत माफियाओं के तार, भूतपूर्व सैनिक समेत 8 आरोपी गिरफ्तार। 


धमतरी। जिले के डाभा-जोरातराई; रेत खदान में जिला पंचायत सदस्य और उनके साथियों पर हुए प्राणघातक हमला व लूटपाट; वह भी बंधक बनाते हुए  मामले में पुलिस ने आरोपियों की धरपकड़ तेज कर दी है। चौबीस घंटे के भीतर ही 8 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। ये छत्तीसगढ़ में रेत माफियाओ के खिलाफ जल्द कार्रवाई की पहला मामला हो सकता है। आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ ही चौंकाने वाले खुलासे भी हो रहे हैं। रेत माफियाओं के तार बाहरी राज्य के गुर्गों से जुड़े हुए हैं। वहीं एक बड़ा खुलासा हुआ है कि; जिला पंचायत सदस्य से मारपीट और लूटपाट के मामले में भूतपूर्व सैनिक भी शामिल था, जिसकी गिरफ्तारी पुलिस ने कर ली है।

बता दें कि शासन ने 16 जून से प्रदेश के सभी रेत खदानों को बंद करने का आदेश जारी किया है। लेकिन धमतरी जिले में इस आदेश का माखौल उड़ाते हुए रेत माफियाओं द्वारा खुलेआम जेसीबी और चेन माउंटेन मशीन लगाकर रेत का उत्खनन किया जा रहा है। अवैध रेत उत्खनन की शिकायत मिलने पर क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य खूबलाल ध्रुव कुछ स्थानीय जनप्रतिनिधियों और कार्यकर्ताओं के साथ कुरुद क्षेत्र के डाभा-जोरातराई रेत खदान पहुंचे थे। जहां खदान में मौजूद रेत माफियाओं और 60 से 70 गुर्गों ने उन्हें घेर लिया और तंबू में बंधक बनाकर लाठी डंडे और रॉड से प्राणघातक हमला किया।

जिला पंचायत सदस्य और उनके साथियों से मोबाइल फोन और जेवर भी लूट लिये। इतना ही नहीं उन्हें निर्वस्त्र कर मोबाइल से आपत्तिजनक वीडियो भी बनाया गया। आरोपियों के कब्जे से छूटने के बाद बुरी तरह से घायल जिला पंचायत सदस्य ने रुद्री थाना पहुंचकर शिकायत दर्ज कराया। इस घटना के विरोध में भाजपाइयों ने शहर में जुलूस निकालकर राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा, तो वहीं आदिवासी समाज ने आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी। जनप्रतिनिधि पर हुए प्राणघातक हमले के मामले ने राज्य भर में खलबली मचा दी है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने घटना की कड़ी निंदा करते हुए रेत माफियाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस भी दिन रात एक कर आरोपियों को गिरफ्तार करने में जुटी हुई है। शनिवार को ही सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया था। आज आठवें आरोपी सिरसा हरियाणा निवासी गुरबचन सिंह पिता किशन सिंह 56 वर्ष को गिरफ्तार कर लिया गया, जो कि मौका देखकर भागने की फिराक में था।

अन्य राज्यों से लठैत लाने का काम करता है भूतपूर्व सैनिक

गुरबचन सिंह ने पूछताछ में बताया कि वह भूतपूर्व सैनिक है। जो सुरक्षा गार्ड के नाम पर अन्य प्रांतों से लोगों को लाता था। ये लोग उसके इशारे पर लड़ाई-झगड़ा, मारपीट करते थे। उसने जिला पंचायत सदस्य के साथ मारपीट करना और लूटपाट करना कबूल किया है, जिस पर आरोपी के कब्जे से घटना में प्रयुक्त लाठी, राड व बेल्ट के अलावा लूटे गए एक नग मोबाइल, एक सोने की अंगूठी व एक सोने की चैन बरामद किया गया है।

अब तक इन आठ आरोपियों की हुई है गिरफ्तारी


विनोद नेताम 
जिला पंचायत सदस्य और उनके साथियों पर प्राणघातक हमला और लूटपाट के मामले जिन आठ आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, उनमें गुरदीप सिंह पिता स्वर्गीय शिवदेव सिंह 38 वर्ष बिलासपुर जिला रामपुर उत्तर प्रदेश, करण जोशी पिता विनोद जोशी 35 वर्ष बिलासपुर जिला रामपुर उत्तरप्रदेश, राजेश तिवारी पिता स्वर्गीय इंद्र देव तिवारी 37 वर्ष ग्राम भरतवा जिला देवरिया उत्तर प्रदेश, अवधेश सिंह पिता राजेंद्र सिंह 22 वर्ष ग्राम लेधोरा जिला टीकमगढ़ मध्यप्रदेश, रमनदीप सिंह पिता श्रवण सिंह 24 वर्ष बिलासपुर जिला रामपुर उत्तर प्रदेश, जसवीर सिंह पिता मेवा सिंह 22 वर्ष करारी शहर निहोलका जिला मोहाडी पंजाब, श्याम कुमार गुप्ता पिता शिवनाथ गुप्ता 23 वर्ष ग्राम टनोई जिला सीतापुर उत्तर प्रदेश और गुरुबचन सिंह पिता किशन सिंह 56 वर्ष सिरसा हरियाणा शामिल हैं। धमतरी पुलिस के अनुसार  घटना में शामिल अन्य आरोपियों की लगातार तलाश की जा रही है जल्द ही पकड़े जायेंगे।

हमारे व्हाट्सअप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए नीचे दिए लिंक को क्लीक करें : 


 गुरूर तहसील के ज्यादातर अधिकारी और कर्मचारी क्षेत्र के आम जनता की फोन रिसीव नहीं करते है